Shri Mahalakshmi Vrat Katha: Puja Vidhi Va Aarti Sah (hathi pujan) श्री महालक्ष्मी व्रत कथा

Reviews
25.00

Availability : In Stock

Product Type : Vrat Katha

Category : Vrat Kathayein

  Book   Shri Mahalakshmi Vrat Katha In Hindi
  Author   Mix
  Binding   Paperback
  Publishing    Date-2017
  Publisher   PRAKASH PRAKASHAN
  Edition   New
  Pages   32
  Language   Hindi

This worship is to be done on Thursday. 1: - By doing this fasting, Mother Mahalakshmi is pleased, and happiness and wealth are obtained. This fasting woman and man should be healthy and enjoyable in their heart. This fast can start from the first Thursday of any month (Jupiter War). According to the law rules, every Thursday, Mahalaxmi fast. Read Sri Mahalaxmi's poetry on the last eight Thursday, after completing the fast on Thursday, you can complete this fast throughout the year. Read the fast story sitting in front of the statue or photo of the goddess of every Thursday throughout the year.
यह पूजा गुरुवार के दिन करनी होती है। 1 :- यह व्रत पूजा करने से माता महालक्ष्मी प्रसन्न होती है, तथा सुख शान्ति एवं धन संपत्ति प्राप्त होती है। यह व्रत करने वाले स्त्री तथा पुरुष दोनों मन से स्वस्थ एवं आनंदमय होने चाहिये।इस व्रत को किसी भी महीने के प्रथम गुरुवार ( बृहस्पति वार) से शुरु कर सकते हैं। विधि नियम अनुसार हर गुरुवार को महालक्ष्मी व्रत करे। श्री महालक्ष्मी की व्रतकथा को पढ़ें लगातार आठ गुरुवार को व्रत पालन करने पर अंतिम गुरुवार को समापन करे, वैसे यह व्रत पूजा पूरे वर्षभर भी कर सकते हैं। पुरे वर्ष भर हर गुरुवार के देवी की प्रतिमा या फ़ोटो के सामने बैठकर व्रत कथा को पढ़ें I

Reviews

Write Review

view reviews

View All Reviews

Q.